Deprecated: Methods with the same name as their class will not be constructors in a future version of PHP; HindiKeyPad has a deprecated constructor in /home/webduniyahindi/public_html/webduniyahindi.com/wp-content/plugins/HindiWriter/HindiWriter.php on line 14
webduniyahindi | 14 फरवरी वेलेंटाइन डे क्यों मनाया जाता है
webduniyahindi | 14 फरवरी वेलेंटाइन डे क्यों मनाया जाता है
1767
post-template-default,single,single-post,postid-1767,single-format-standard,ajax_fade,page_not_loaded,,qode-title-hidden,qode_grid_1300,hide_top_bar_on_mobile_header,qode-content-sidebar-responsive,qode-theme-ver-10.0,wpb-js-composer js-comp-ver-4.12,vc_responsive

14 फरवरी वेलेंटाइन डे क्यों मनाया जाता है

14 फरवरी वेलेंटाइन डे क्यों मनाया जाता  है

 

अपने जज्बातों को शब्दों में बया करने के लिए इस दिन का हर धड़कते हुए दिल को बेसब्री से इन्तजार रहता है। ये दिन होता है ‘प्यार का दिन ‘प्यार के इजहार का दिन “वेलेंटाइन डे। प्यार भरा ये दिन खुशियों का प्रतीक माना जाता है। और हर प्यार करने वाले के लिए यह दिन अलग ही मायने रखता है।

14 फरवरी वेलेंटाइन डे क्यों मनाया जाता है

14 फरवरी को मनाया जाने वाला यह दिन विभिन्न देशों में अलग -अलग तरह से मनाया जाता है। पश्चिमी देशों में तो इस दिन की रौनक अपने शबाब पर होती है। लेकिन पूर्वी देशों में भी इस दिन मनाने का अपना अलग अंदाज होता है।

चीन में यह दिन ‘नाइटस ऑफ़ सेवेन्स ‘ प्यार में दुबे लोगों के लिए ख़ास होता है। वहीँ जापान और कोरिया में इस दिन को ‘वाइट डे ‘के नाम से जाना जाता है। इन देशों में इस दिन से लेकर पुरे महीने तक लोग प्यार के रंग में डूबे  रहते हैं और एक दूसरे को तपफे और फूल देकर अपने प्यार का इजहार करते हैं।

यु एस ग्रीटिंग कार्ड के अनुमान के अनुसार पुरे वर्ष में प्रतिवर्ष करीब एक बिलियन वेलेंटाइन्स एक -दूसरे को कार्ड भेजते हैं ,जो क्रिसमस के बाद दूसरे स्थान सबसे अधिक कार्ड के विक्रय वाला पर्व माना जाता है।

ऐसा माना जाता है कि वेलेंटाइन डे मुख्य रूप से संत वेलेंटाइन  के नाम पर रखा गया है। लेकिन संत वेलेंटाइन के विषय में ऐतिहासिक तोर पर कुछ अलग तथ्य है और कुछ भी सटीक जानकारी नहीं है। 1969  में कैथोलिक चर्च ने कुल 11 सेंट् वेलेंटाइन के होने की पुष्टि की और 14 फरवरी को उनके सम्मान में  पर्व मनाने की घोषणा की।

‘ओरिया ऑफ़ जैकोबस डी वोराजिन ‘ के अनुसार रोम में तीसरी शताब्दी में सम्राट क्लॉडिशियन का शासन था। उनके अनुसार विवाह करने से पुरुषों की शक्ति और बुद्धि कम होती है। उसने आज्ञा जारी की कि उसका कोई सैनिक या अधिकारी विवाह नहीं करेगा। संत वेलेंटाइन ने इस क्रूर आदेश का विरोध किया।

उन्ही के कहने पर अनेक सैनकों और अधिकारीयों ने विवाह किये। आखिर क्लाडियस ने 14 फरवरी सन 269 को संत वेलेंटाइन को फांसी पर चढ़वा दिया। तभी से उनकी स्मृति में प्रेम दिवस मनाया जाता है।

 

Loading Facebook Comments ...
No Comments

Post A Comment