webduniyahindi | मुँह के छालों से लेकर बुखार भी दूर करती है एक चीज
819
post-template-default,single,single-post,postid-819,single-format-standard,ajax_fade,page_not_loaded,,qode-title-hidden,qode_grid_1300,hide_top_bar_on_mobile_header,qode-content-sidebar-responsive,qode-theme-ver-17.2,qode-theme-bridge,qode_header_in_grid,wpb-js-composer js-comp-ver-5.6,vc_responsive

मुँह के छालों से लेकर बुखार भी दूर करती है एक चीज

मुँह के छालों से लेकर बुखार भी दूर करती है ये एक चीज !

 

दोस्तों ,बेलपत्र के पौधे को कौन नहीं जानता। यह भगवान् शिव का प्रिय पौधा है। जो शिवलिंग पर चढ़ाया जाता है। इन सभी के आलावा बेलपत्र से शरीर की कई छोटी छोटी बीमारियां भी ठीक हो जाती हैं। आइये जानते हैं। ……..

आँखों का इन्फेक्शन :-

मौसम के कारण कई बार आँखों में इन्फेक्शन हो जाता है। जिसकी वजह से उनमे सूजन ,खुजली और लालिमा आ जाती है। ऐसे में बेल के पत्तों का रस निकालकर डालने से बहुत फायदा मिलता है।

मुँह के छाले :-

कई बार मसालेदार खाने और पेट की गर्मी के कारण मुँह में छाले हो जाते हैं। इसके लिए बेल पत्ते और सौंफ ,हरा धनिया को पीसकर चटनी बना लें। इस चटनी का सेवन करने से मुँह के छालों में आराम मिलता है।

एसिडिटी :-

मुँह के छालों से लेकर बुखार भी दूर करती है ये एक चीज !

मुँह के छालों से लेकर बुखार भी दूर करती है ये एक चीज !

गलत खान पान या गलत टाइम खाना खाने की वजह से पेट में गैस होने लगती है ऐसे में बेलपत्र के रस में एक चुटकी काली मिर्च और थोड़ा सा काला नमक मिलाकर लेने से पेट की गैस में राहत मिलती है।

खांसी जुकाम :-

मुँह के छालों से लेकर बुखार भी दूर करती है ये एक चीज !

मुँह के छालों से लेकर बुखार भी दूर करती है ये एक चीज !

खांसी जुकाम होने पर एक चम्मच बेल के रस में एक चम्मच शहद मिलाकर दिन दो या तीन बार लेने पर बहुत जल्दी आराम मिलता है।

वायरल बुखार :-

मौसम के बदलने पर भट जल्द वायरल फैलता है ऐसे में बेल के पत्तों को पीसकर उसमे गुड़ मिलाकर छोटी -छोटी गोलियां बना लें। और सुबह शाम खाएं। ऐसा करने से बहुत जल्द वायरल में राहत मिलती है।

अस्थमा :-

अस्थमा के रोगियों को साँस लेने में काफी तकलीफ होती है। इसके लिए बेलपत्र और सौंफ को पानी में मिलाकर पियें।

पेट के कीड़े में :-

इसके लिए एक चम्मच बेलपत्र के रस में अजवाइन मिलाकर सेवन करने से पेट के पड़े मर जाते हैं।

 

Loading Facebook Comments ...
No Comments

Post A Comment