webduniyahindi | श्रावण मास में नवग्रहों की शांति के लिए शिव को क्या चढ़ाएं
285
post-template-default,single,single-post,postid-285,single-format-standard,ajax_fade,page_not_loaded,,qode-title-hidden,qode_grid_1300,hide_top_bar_on_mobile_header,qode-content-sidebar-responsive,qode-theme-ver-17.2,qode-theme-bridge,qode_header_in_grid,wpb-js-composer js-comp-ver-5.6,vc_responsive
श्रावण मास में नवग्रहों की शांति के लिए शिव को क्या चढ़ाएं

श्रावण मास में नवग्रहों की शांति के लिए शिव को क्या चढ़ाएं

श्रावण मास में नवग्रहों की शांति के लिए शिव को क्या चढ़ाएं

नवग्रहों की शांति के लिए यह चढ़ाएं  शिव को :

शिव साधना और अपने जीवन की समस्याएं दूर करने के लिए सावन मास से अच्छा समय और कोई नहीं है और 10 जुलाई 2017 से सावन माह शुरू हो रहा है।

माना जाता है कि शिव के समान कोई दाता नहीं है। और ये अटूट सत्य है। सिर्फ आवश्यकता है ह्रदय से सेवा करने की। शिव की कृपा सिर्फ एक लौटा जल चढ़ाने से प्राप्त की जा सकती है। इतना सरल और इतना भोला कोई देव नहीं है।

ग्रह दोष का निवारण इन तरीको से दूर किया जा सकता है :

1 . सूर्य के दोष निवारण के लिए अर्क पुष्प तथा बिल्व पत्र से अर्चना करें।

2 . चंद्र दोष निवारण के लिए दुग्ध से अभिषेक तथा सफेद फूल से पूजा अर्चना करें।

3 . मंगल दोष निवारण के लिए गुड़ के जल या गिलोय के रस से अभिषेक करे तथा रक्तवर्ण के पुष्प चढ़ाएं।

4 बुध के निवारण के लिए विधाप्रा के रस से अभिषेक करे तथा बिल्वपत्र चढ़ाएं।

5 .  बृहस्पति दोष निवारण  हरिद्रा मिश्रित दुग्ध से अभिषेक करें। और पुष्प चढ़ाएं।

6 . शुक्र संबंधी बढ़ा दूर करने के लिए पंचामृत से अभिषेक करे। तथा श्वेत पुष्प चढ़ाएं।

7 . शनि  की पीड़ा दूर करना के लिए गन्ने के रस से अभिषेक करें। तथा नीले पुष्प चढ़ाएं।

8 . राहु केतु की शांति के लिए भांग  तथा दुग्ध से अभिषेक करें। तथा धतूरा चढ़ाएं।

पूर्ण लाभ लेने  के लिए पुरे मास पूजन करें तथा जप करें अनुष्ठान के नियमो का पालन करें संभव हो तो ब्रह्मणो को भोजन कराएं। सोमवार को तो अवश्य कराएं।

Loading Facebook Comments ...
1 Comment

Post A Comment