webduniyahindi | रामायण और महाभारत की ये है सबसे अदभुत समानता
1335
post-template-default,single,single-post,postid-1335,single-format-standard,ajax_fade,page_not_loaded,,qode-title-hidden,qode_grid_1300,hide_top_bar_on_mobile_header,qode-content-sidebar-responsive,qode-theme-ver-17.2,qode-theme-bridge,qode_header_in_grid,wpb-js-composer js-comp-ver-5.6,vc_responsive

रामायण और महाभारत की ये है सबसे अदभुत समानता

रामायण और महाभारत की ये हैं सबसे अदभुत समानता

 

रामायण (त्रेतायुग )और महाभारत(द्वापरयुग ) दोनों ही सनातन धर्म के प्रमुख अंग हैं। ये दोनों ही ग्रन्थ हमें बहुत सीख देते हैं कि जिंदगी को कैसे बेहतर किया जा सकता है। इसके बारे में सिक्षाप्रद उदाहरण प्रस्तुत करते हैं लेकिन इन दोनों ही महान ग्रंथों में ऐसी कुछ समानताएं हैं जो वाकई दिलचस्प है।

जैसी कि बाल्मीकि रामायण में उल्लेख है भगवन श्री राम को उनकी माँ कैकेई ने 14 वर्ष का वनवास दिया था वहीं महाभारत में जब पांडव चौसर हार जाते हैं तो दुर्योधन उन्हें 13 वर्ष का वनवास और 1 वर्ष का अज्ञात वास देता है

रामायण और महाभारत की ये हैं सबसे अदभुत समानता

ठीक इसी प्रकार रामायण की नायिका सीता और महाभारत की नायिका द्रोपदी दोनों ही अयोजिका यानि गर्भ से पैदा नहीं हुई थी। दोनों ही महाकाव्यों के पुरुष दिव्य पुरुष मने गए है। श्रीराम ने सीता जी को स्वयंबर में पिनाक धनुष तोड़ने के बाद अपनाया तो दूसरी तरफ अर्जुन ने स्वयवर में मछली की आँख में निचे रखे पानी को देख निशाना लगाया। तब जाकर द्रोपदी अर्जुन की अर्धांगिनी बनी।

हनुमान जी और जामवंत दो ऐसे चरित्र हैं जो रामायण में भी थे और महाभारत में भी हनुमान जी गदाधारी भीम थे। ,वहीं राम अपने अनुज लक्ष्मण ,भरत और शत्रुधन से बहुत स्नेह करते थे। और युधिष्ठिर भी अपने अनुज के लिए अपार स्नेह रखते थे।

रामायण और महाभारत की सबसे बड़ी समानता ये हैं कि नायिका के कारण युद्ध का होना। जब रावण सीता का अपहरण करके ले जाता है तो राम युद्ध करते हैं और सीता पुनः उनके पास आती हैं।

और महाभारत में युद्ध की शुरुवात द्रोपदी  दुर्योधन के अपमान करने के कारण होती है। यह विवाद इतना बढ़ जाता है कि महाभारत युद्ध होता है। हालाँकि दोनों महाकाव्यों में विजय अंत में सत्य की होती है। और पुनः धर्म का अधिपत्य स्थापित होता है।

Loading Facebook Comments ...
No Comments

Post A Comment