webduniyahindi | जानिए श्रावण मास क्यों प्रिय है शिव को….
261
post-template-default,single,single-post,postid-261,single-format-standard,ajax_fade,page_not_loaded,,qode-title-hidden,qode_grid_1300,hide_top_bar_on_mobile_header,qode-content-sidebar-responsive,qode-theme-ver-17.2,qode-theme-bridge,qode_header_in_grid,wpb-js-composer js-comp-ver-5.6,vc_responsive
जानिए श्रावण मास क्यों प्रिय है शिव को

जानिए श्रावण मास क्यों प्रिय है शिव को….

जानिए श्रावण  मास क्यों प्रिय है शिव को ….

मान्यताओं के अनुसार सावन के महीने को भगवान शंकर का पावन महीना माना जाता है| इस सम्बन्ध में एक पौराणिक कथा भी प्रचलित है एक बार सनत कुमारो ने भगवान शंकर से श्रावण महीना प्रिय होने का कारण  पूछा। तब भगवान शिव ने बताया कि जब देवी सती ने अपने पिता दक्ष के घर में अपना शरीर त्याग किया था ,उससे पहले देवी सती ने महादेव को हर जन्म में पति रूप में पाने का प्रण किया था।

दूसरे जन्म में सती ने पार्वती माता  के रूप  में हिमाचल और रानी मैना यहाँ पुत्री रूप में जन्म लिया। पार्वती ने सावन के महीने में ही निराहार रहकर कठोर व्रत किया। और शिव को प्रसन्न कर उनसे विवाह किया। तभी से महादेव के लिए यह माह विशेष हो गया।

श्रावण  मास में महादेव की पूजा :

श्रावण मास में महादेव की विशेष रूप से पूजा की जाती है। और पूजन की शुरुवात महादेव के अभिषेक के साथ की जाती है। अभिषेक में महादेव को दूध ,दही जल ,घी ,शक़्कर ,शहद ,गंगाजल ,गन्ने का रस से स्नान किया जाता है। अभिषेक के बाद बेलपत्र ,दुब,कुशा,नीलकमल ,कमल ,ओक मदार , राई फूल आदि से महादेव को प्रसन्न किया जाता है।

 

 

 

Loading Facebook Comments ...
1 Comment

Post A Comment