webduniyahindi | लालू जनता नहीं जाति के नेता,गठबंधन तोड़ने के आलावा कोई नहीं था विकल्प :-नितीश
706
post-template-default,single,single-post,postid-706,single-format-standard,ajax_fade,page_not_loaded,,qode-title-hidden,qode_grid_1300,hide_top_bar_on_mobile_header,qode-content-sidebar-responsive,qode-theme-ver-17.2,qode-theme-bridge,qode_header_in_grid,wpb-js-composer js-comp-ver-5.6,vc_responsive
लालू जनता नहीं जाति के नेता ,गठबंधन तोड़ने के आलावा कोई नहीं था विकल्प :-नितीश

लालू जनता नहीं जाति के नेता,गठबंधन तोड़ने के आलावा कोई नहीं था विकल्प :-नितीश

लालू जनता नहीं जाति के नेता ,गठबंधन तोड़ने के आलावा कोई नहीं था विकल्प :-नितीश

 

बिहार में भाजपा के साथ सरकार बनाने के बाद पहली बार सीएम नितीश कुमार ने आरजेडी के आरोपों पर पलटवार करते हुए कहा कि हमारा जो काम करने का तरीका है उससे समझौता नहीं कर सकते। नितीश ने कहा कि मेरे पास गठबंधन तोड़ने के अलावा और कोई विकल्प नहीं था।

छापों को लेकर मेरी कई बार लालू जी से बात हुई। मेने आरोपों पर ध्यान नहीं दिया। हर आरोप बर्दाश्त किये ,मुझे जहर तक कहा गया। लालू को भ्र्ष्टाचार के आरोपों पर तथ्यों के साथ सफाई देने के लिए कहा लेकिन वो नहीं माने। उनके इन आरोपों को लेकर मुझ पर सवाल उठ रहे थे। मुझे लालू के परिवार की सम्पत्ति  नहीं थी।

महागठबंधन चलाने में कई समस्यां आई। सरकार ने बहुत कोशिश की। आरजेडी ने बहुत कुछ कहा है। मेने ज्यादातर टिप्पणियों पर ध्यान नहीं दिया। मेरा जो काम करने का तरीका है उससे समझौता नहीं कर सकते। मेने हर आरोप बर्दाश्त किया।

आरोप लगाया कि आरजेडी का प्रशाशनिक कार्यों में हस्तक्षेप हद से ज्यादा बढ़ गया था। हमारा गठबंधन इसके लिए नहीं बना था। एनडीए में शामिल होने के बारे में नितीश ने कहा कि ‘हमें बीजेपी के शीर्ष नेताओं ने आमंत्रित किय था। मेरा बीजेपी में जाना पहले से तय नहीं था मेरा कास्ट बेस  पर नहीं मास बेस में विश्वास है।

Loading Facebook Comments ...
No Comments

Post A Comment