webduniyahindi | गायत्री मन्त्र से मिलते हैं चमत्कारी लाभ
1415
post-template-default,single,single-post,postid-1415,single-format-standard,ajax_fade,page_not_loaded,,qode-title-hidden,qode_grid_1300,hide_top_bar_on_mobile_header,qode-content-sidebar-responsive,qode-theme-ver-17.2,qode-theme-bridge,qode_header_in_grid,wpb-js-composer js-comp-ver-5.6,vc_responsive

गायत्री मन्त्र से मिलते हैं चमत्कारी लाभ

गायत्री मन्त्र से मिलते हैं चमत्कारी लाभ

 

हमारे हिन्दू धर्म में मन्त्रों का जपना बहुत ही अच्छा माना जाता है। यह एक ऐसा उपाय है जिससे हम आध्यात्मिक शक्ति के करीब पहुंचते हैं और ईश्वर की कृपा से हम अपनी सभी समस्याओं को दूर कर पाते हैं शास्त्रों में मंत्रों को बहुत शक्तिशाली और चमत्कारी बताया गया है सबसे ज्यादा प्रभावी मंत्रों में से एक मंत्र है ‘गायत्री मन्त्र ‘

इस मंत्र को हमेशा उच्चतम मंत्रों में गिना जाता है इस मंत्र से बहुत जल्द शुभ फल प्राप्त होते हैं। इसे हमेशा सही समय जपना सबसे लाभकारी होता है

गायत्री मन्त्र से मिलते हैं चमत्कारी लाभ

गायत्री मंत्र जपने का सही समय

गायत्री मंत्र का जप कब करना चाहिए आइये जानते हैं

गायत्री मंत्र का जप करने का सबसे पहला समय है सुबह का। इस मंत्र का जप सुबह ब्रह्ममुहूर्त से शुरू करके सूर्योदय तक कर्ण सबसे अधिक फलदायी माना जाता है।

गायत्री मंत्र के जप के लिए दूसरा समय है दोपहर का। दोपहर में भी इस मंत्र का जप किया जाता है

गायत्री मंत्र जपने का तीसरा समय है शाम को सूर्यास्त से कुछ देर पहले यानी प्रदोस काल में। सूर्यास्त से कुछ समय पहले मंत्र जप शुरू करके सूर्यास्त के कुछ देर बाद तक करना चाहिए।

इसके आलावा यदि इस मंत्र का जप करना हो तो मौन रहकर या मानसिक रूप से करना चाहिए तथा ज्यादा तेज आवाज़ में नहीं करना चाहिए।

गायत्री मन्त्र

गायत्री मात्र का अर्थ

सृष्टिकर्ता प्रकाशमान परमात्मा के तेज़ का हम ध्यान करते हैं। परमात्मा का वह तेज़ हमारी बुद्धि को सही और सत्य मार्ग की और चलने के लिए प्रेरित करे।

गायत्री मंत्र जपने की विधि

इस मंत्र का जप करने के लिए रुद्राक्ष की माला का उपयोग करना सबसे श्रेष्ठ माना जाता है जप करने से पहले स्नान आदि कर्मों से खुद को पवित्र कर लेना चाहिए। और मंत्र जप की संख्या कम से कम 108 होनी चाहिए। घर के मंदिर में या किसी पवित्र स्थान पर गायत्री माता का ध्यान करते हुए इस मन्त्र का जाप करना चाहिए।

गायत्री मंत्र जपने के फायदे

  • हम बुराई के मार्ग से सतकर्म की तरफ बढ़ते है
  • उत्साह को आत्मविश्वास बढ़ता है सकारात्मकता का विस्तार होता है
  • इस मंत्र से धर्म और सेवा के कार्यो में मन लगता है
  • आशीर्वाद देने की शांति बढ़ती है
  • इस मंत्र के जप से त्वचा में चमक बढ़ती है
  • स्वप्न पूरा करने की सिद्धि प्राप्त होती है
  • ईश्वर की शक्ति हमारे आस पास रहती है
  • पूर्वाभास की शक्ति पैदा होती है।
  • बुराइयों से मन दूर होता है
  • क्रोध शांत होता है

 

यह भी पढ़ें :-

 

 

Loading Facebook Comments ...
No Comments

Post A Comment