webduniyahindi | अगर आपको भी आती है बार बार जम्भाई ,तो हो जाएँ सावधान !
878
post-template-default,single,single-post,postid-878,single-format-standard,ajax_fade,page_not_loaded,,qode-title-hidden,qode_grid_1300,hide_top_bar_on_mobile_header,qode-content-sidebar-responsive,qode-theme-ver-17.2,qode-theme-bridge,qode_header_in_grid,wpb-js-composer js-comp-ver-5.6,vc_responsive

अगर आपको भी आती है बार बार जम्भाई ,तो हो जाएँ सावधान !

अगर आपको भी आती है बार बार जम्भाई ,तो हो जाएँ सावधान !

 

पुरे दिन की थकावट हो या नींद पूरी न हुई हो ,रात भर सोये न हों ,तो ऐसे में जम्भाई आती है लेकिन अगर हद से ज्यादा जम्भाई आती हैं तो सावधान हो जाएँ क्योंकि जम्भाई का सीधा कनेक्शन हमारे मष्तिष्क के साथ होता है। इसे कभी इग्नोर ना करें। बार बार जम्भाई आना कुछ बिमारियों का संकेत हो सकता है। आइये जानते हैं। ….

थायराइड :-

अगर आपको भी आती है बार बार जम्भाई ,तो हो जाएँ सावधान !

अगर आपको भी आती है बार बार जम्भाई ,तो हो जाएँ सावधान !

बार – बार जम्भाई आना हाइपोथायराइड डिस्म की निशानी हो सकती है। ऐसा शरीर में थायराइड हार्मोन कम बनने पर होता है। कई बार कुछ दवाइयों के साइड इफेक्टस की वजह से भी ज्यादा जम्भाई आती हैं।

हार्ट प्रॉब्लम :-

अगर आपको भी आती है बार बार जम्भाई ,तो हो जाएँ सावधान !


अगर आपको भी आती है बार बार जम्भाई ,तो हो जाएँ सावधान !

ज्यादा जम्भाई आने का सम्बन्ध हार्ट प्रॉब्लम से हो सकता है। जिससे हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है।

फेफड़े संबंधी रोग :-

अगर आपको भी आती है बार बार जम्भाई ,तो हो जाएँ सावधान !

अगर आपको भी आती है बार बार जम्भाई ,तो हो जाएँ सावधान !

मस्तिष्क में ऑक्सीजन का बहाव कम और कार्बनडाइऑक्साइड की मात्रा ज्यादा होने पर फेफड़े संबंधी रोग हो सकते है। ऐसे में जम्भाई  पर मस्तिष्क में ऑक्सीजन का फ्लो बढ़ता है और लंग्स से खराब हवा निकालने में मदद मिलती है।

तनाव :-

तनाव बढ़ने पर मस्तिष्क का टेम्प्रेचर बढ़ता है और जम्भाई आती है। इससे हमें ऑक्सीजन की पर्याप्त मात्रा मिलती है व् दिमाग ठंडा होता है।

नींद की समस्या :-

नींद पूरी न होने ,स्लीप एप्निया नामक डिस आर्डर होने या शरीर में एनर्जी की कमी होने ज्यादा जम्भाई आने लगती हैं

Loading Facebook Comments ...
No Comments

Post A Comment