webduniyahindi | एसिडिटी ख़त्म करने के आसान तरीके
1158
post-template-default,single,single-post,postid-1158,single-format-standard,ajax_fade,page_not_loaded,,qode-title-hidden,qode_grid_1300,hide_top_bar_on_mobile_header,qode-content-sidebar-responsive,qode-theme-ver-17.2,qode-theme-bridge,qode_header_in_grid,wpb-js-composer js-comp-ver-5.6,vc_responsive
एसिडिटी ख़त्म करने के आसान तरीके

एसिडिटी ख़त्म करने के आसान तरीके

एसिडिटी ख़त्म करने के आसान तरीके

 

acidity आजकल होने वाली आम बीमारियों में से एक है। ये प्रॉब्लम हर किसी को कभी ना कभी होती है। कहने के लिए ये एक आम बीमारी है लेकिन ये इतना परेशान कर  डालती है कि इंसान का किसी काम में दिल नहीं लगता।

इससे सीने में जलन हो जाती है ,मुँह में पानी आने लगता है ,खट्टी डकारें आने लगती हैं ,पेट भारी हो जाता है ,भूख मर जाती है ,पेट दर्द के चांस बढ़ जातें हैं,जी मिचलाने लगता है ,मुँह से पेट तक की नली में आग सी लग जाती है जिससे नींद तक भाग जाती है.

कोशिश करनी चाहिए कि इसका इलाज शुरुआती दौर में ही हो जाये वरना ये समस्या उग्र रूम धारण कर  सकती है.सबसे बेहतरीन इलाज तो इसके कारणों का पता लगाना होता है। आमतौर से लोग समझ जाते है कि उन्हें  सबसे ज्यादा एसिडिटी क्या खाने या क्या पीने से होती है ,उस चीज का परहेज ही इसका सबसे अच्छा इलाज होता है.

असलियत में हमारे द्वारा खाये गए खाने को पचाने में एसिड्स का सबसे अहम रोल होता है ,लेकिन अगर हमारे शरीर में इन एसिड्स का उत्पादन आवश्यकता से अधिक होने लगे तो ये अपच की समस्या को पैदा कर देती है। ज्यादा तला भुना या मसाले दार खाना खाना,ज्यादा खाना खाना,ज्यादा चाय या कॉफी पीना ,ज्यादा मीठा खाना ,शराब या सिगरेट पीना ,ज्यादा तनाव में रहना ,खाने की खराब टाइमिंग होना ,पूरी नींद न लेना ,वाकिंग ना करना ,खाने के तुरंत बाद सो जाना ,फिजिकल एक्टिविटी ना करना ,खटाई ,चोकोलेट ,मैदा अधिक मात्रा में खाना आदि एसिडिटी के कॉमन कारण होते हैं।

एसिडिटी को ख़त्म करने के अनेक उपाय आपके घर में आपकी किचेन में मौजूद है जो आपके रोज खाने के हिस्से भी हैं और ये बिलकुल सेफ भी हैं। ये काफी सस्ते हैं और इन्हे प्राप्त करना काफी आसान है। अगर आप छाती की जलन या एसिडिटी से परेशान हैं तो सौंफ का इस्तेमाल कीजिये ,आधी चम्मच सौंफ मुँह में डालकर धीरे धीरे चबाइए ,जैसे ही इसका स्लाइवा आपके पेट में जायेगा आपको पता भी नहीं चलेगा कि ये जलन कब गायब हो गयी।

अगर आपकी किचन में सौंफ भी है तो सेम तरीके से जीरे का सेवन करे ,ये जीरा शानदार काम करेगा ,अगर जीरा चबाना मुश्किल लगता है तो इसे पानी में उबालकर ,ठंडा करके ,छानकर पी सकते हैं।

दालचीनी और शहद के पेस्ट को अगर खाना खाने से पहले चाट ले तो एसिडिटी आपके पास भी नहीं फटक सकती। या फिर दालचीनी को पानी में उबालकर ,छानकर एक एक गिलास दिन में दो बार पीने से बहुत राहत मिलेगी।

आमतौर से तुलसी का पौधा हरेक घर में होता है जिसके तीन चार पत्ते खाने के बाद चबाने स एसिडिटी तुरंत भाग जाती है। हरी इलायची या लौंग भी आपके हाइपर एसिडिटी में राहत देती है.खाने के बाद आप एक इलाइची या एक लौंग चूस सकते है

हल्दी भी एसिडिटी को ख़त्म करने का एक अचूक इलाज है इसे आप पानी या दूध में डालकर ले सकते है ,इसके अलावा आप पका हुआ केला,अनार ,तरबूज ,खीरा  या सेब जैसे फलों का भी इस्तेमाल कर सकते हैं ,एक गिलास पानी में आंवला पाउडर मिला के पीना भी अधिक एसिड बनने से रोकता है इसके अलावा अगर इनमे से कुछ भी उपलब्ध नहीं है तो फ्रिज का बिना मीठा ठंडा दूध भी एक एक सिप करके पिया जा सकता हैजो तुरंत राहत देगा।

1 हफ्ते में नाख़ून टूटने बंद होकर लम्बे और सुंदर होंगे

इन उपायों के सिवा भी हमे अपने शरीर को फिट रखने के लिए और एसिडिटी जैसी कई बीमारियों से बचने के लिए कुछ और एहतियात रखनी चाहिए जैसे मॉर्निंग वाक करना ,समय पर खाना खाना ,तले हुए ,मसालेदार और भरी खाने से बचना ,रात के खाने के बाद 15 -20  मिनट टहलना ,अधिक पानी पीना ,शराब और धूम्रपान से बचना ,योग करना, कम से कम 7 घंटे सोना  सफाई का ध्यान रखना आदि।

Loading Facebook Comments ...
No Comments

Post A Comment